• नविन सूचना

    जेथे विज्ञान संपते तेथे आध्यात्म सुरू होते

    Thanks For Visiting Sunil Kanle Websites

    Friday, 29 January 2016

    कैसें बनायें देश को महासत्ता !

    Rajiv Bhai Vichardhara

    वंदे मातरम् मित्रो....
    राजीव भाईने अपने जीवन में सिर्फ स्वदेश और स्वदेशी का जिक्र किया, चूंकि वो जानते थे , की अगर भारत फिर से खडा़ हो सकता है तो सिर्फ अपने बलबुते पर !
    राजीव भाई खुद ब्रिटिश पार्लमेंट से कुछ महत्वपुर्ण दस्तावेज को जमाकर के इस बात को साबित कर दिया था, की ब्रिटिशोंनो किस प्रकार और कितनी बडी लुट इस देश से कि थी
    उस वक्त की सिर्फ एक इस्ट इंडिया कंपनी ने पुरा देश लुटा था और आज आजादी मिलने के बाद चार हजार से भी जादा विदेशी कंपनियाँ अपने देश को लुट रही है, इसलिए जब तक हम इन सभी विदेशी कंपनियो को भगा नही देते, तब तक अपना देश तरक्की नही कर सकता !
    और जिस दिन हमने इन सभी को अपने देश से भगा दिया उस दिन से अपना देश दुनिया पर राज कर सकता है, वो कैसे ये आप को जल्द ही बतायेंगें !

    https://youtu.be/YhoHghOfGjA?list=PLi12vrKeDNgOdLDWR2FCZvS9d6voqQ4gf

    1 comment:

    1. इसे ज्यादा से ज़्यादा शेयर करें

      ReplyDelete


    येथे वरील पोस्टच्या विषया संदर्भांतच टिप्पणी कराव्यात,
    चुकीच्या शब्दाचा वापर केल्यास टिप्पणी काढून टाकल्या जातील !

    See Google Maps

    माझा परिचय

    माझा परिचय
    दोस्तों मैं एक सीधा साधा और भोला भाला लडका हॅू। मेरा दिल स्वदेश और स्वदेशी प्रती आस्था रखता हैं। मुझे पढना लिखना पसंद है, और मिला हुआ ज्ञान लोंगो को बाँटना मुझे अच्छा लगता है। भारत के युवाओंको प्रेरित करना और उन्हे स्वदेश के प्रती जागरूक करना मैं मेरा कर्तृव्य मानता हॅू, और इसे मैं आखिर तक निभाता रहॅूगा। वंदे मातरम् ! जय हिंद !

    माझे ॲप डाऊनलोड करा